WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

गेहूं में गुलाबी सुंडी की तरह दिखाईं देने वाला गुलाबी तना छेदक कीट का प्रकोप, लक्षण एवम् इसके बचाव के उपाय

हाल ही में गेहूं में गुलाबी सुंडी की तरह दिखाईं देने वाला गुलाबी तना छेदक कीट का प्रकोप देखने को मिल रहा है, यह कीट प्रमुख रूप से राजस्थान के सूरतगढ़, विजयनगर एवम् अनूपगढ़ में गेहूं में प्रकोप देखने को मिल रहा है, यह रोग प्रमुख नरमा कपास के खेतों में देखने को मिलता है परंतु गेहूं में इस किट के प्रकोप को देखते हुए फसल खराब होने के चिंता सताने लगी है।

 

 

गेहूं की फसल में गुलाबी तना छेदक कीट की वजह से किसानों को कृषि विभाग द्वारा खेतों के निरीक्षण एवं उनमें विभागीय सलाह के मुताबिक कीटनाशक दवाओं के इस्तेमाल का मशवरा दे रहे हैं ताकि इस कीट से गेहूं की फसल बर्बाद नहीं हो, कृषि अधिकारियों द्वारा निरीक्षण के दौरान पाया गया है कि सूरतगढ़ विजयनगर एवं अनूपगढ़ के खेतों में गुलाबी सुंडी की तरह दिखाई देने वाला गुलाबी तना छेदक कीट का प्रकोप देखने को मिला है, गेहूं की फसल में पहला पानी देने के बाद तना एवम् साखाये बनने लगा है, ऐसे में साखाओ पर इस कीट का प्रकोप बढ़ रहा है, इस कीट का लार्वा तने में प्रवेश मध्य भाग को नष्ट कर रहा है, ओर पौधे की सखाए पीली पड़ने के साथ नष्ट हो रही है।

 

 

बीते सीज़न में नरमा कपास फसल में गुलाबी सुंडी से फसल नष्ट हो गई थी, इसे देखते हुए किसान इस प्रकोप को गुलाबी सुंडी समझ रहें हैं, टीवी कृषि विभाग द्वारा किसानों को समय-समय पर गेहूं की फसल में निगरानी करने एवं कृषि विभाग के अनुसार सुझाए गए उपाय करने की सलाह दे रहे हैं एवं उचित कीटनाशक दावों के छिड़काव की सलाह दी जा रही है।

 

गेहूं में गुलाबी तना छेदक कीट पर कृषि विभाग की सलाह:-

कृषि विभाग श्रीगंगानगर के संयुक्त निदेशक श्री जीआर मटोरिया ने बताया कि धान की फसल की बेल्ट में गेहूं की फसल में गुलाबी तना छेदक कीट का प्रकोप देखा जा रहा है, यह कीट गेहूं के तने के मध्य भाग में प्रवेश करके तने को नष्ट कर देता है, इसको हार्ट डेड (hard dead) के नाम से भी जाना जाता है, इसके बचाव हेतू किसान साथी गेहूं की फसल का नियमित निरीक्षण करे एवम् कृषि विभाग की सुझाई गई कीटनाशक दवाओं का छिड़काव करें।

 

गुलाबी तना छेदक कीट के बचाव हेतू यह करे छिड़काव

कृषि विभाग के अनुसार गेहूं की फसल में गुलाबी तना छेदक कीट होने पर प्रारंभिक अवस्था में इस रोग हेतू उचित प्रबंध करे, इसके लिए किसान विभागीय सलाह के मुताबिक फसल की फुटान अवस्था में क्यूनाल फॉस 25 ईसी प्रति लीटर/प्रति हैक्टेयर के हिसाब से छिड़काव करे या इस कीट के प्रकोप के समय क्लोरोपायरिफोस का छिड़काव कर दे ताकि रोग को नियंत्रित किया जा सके।

 

 

खेती बाड़ी व्हाट्सअप ग्रुप ज्वाइन करें 👉 यहां क्लिक करके जुड़

 

ये भी पढ़ें👉सरसों में अल्टरनेरिया झुलसा रोग एवम् अल्टरनेरिया पत्ती धब्बा रोग जो फसल को कर रहा है बर्बाद जानें इसके लक्षण एवम् बचाव के उपाय

 

ये भी पढ़ें 👉यदि गेहूं में जड़ माहू कीट का प्रकोप बढ़ रहा है तो जानें इसके लक्षण एवम् आसान नियंत्रण करने के उपाय

 

 

ये भी पढ़ें👉Realme 10 Pro का 5000 MAH बैटरी एवम् 108 MP केमरे के साथ भारी डिस्काउंट के साथ मिल रहा है कम बजट वाला 5G फोन

 

ये भी पढ़ें👉युवा संबल योजना: बेरोजगार युवाओं को मिलेंगे 90 हज़ार रुपए जानें, क्या है योग्यताएं एवम् आवेदन प्रक्रिया

 

 

वैबसाइट स्पेशल:- मंडी बाजार भाव द्वारा समय समय पर खेती बाड़ी एवम् नई नई योजनाएं सरकार द्वारा चलाई जाति है उसके बारे में जानकारी दी जाती है, आप हमारे व्हाट्सअप चैनल को फॉलो करें 👉 ज्वाइन करने के लिए व्हाट्सऐप चैनल के लिए क्लिक करें 👈 हमारे द्वारा संपूर्ण जानकारी खेती बाड़ी एवम् बाजार भाव की संपूर्ण रिसर्च करके आप तक पहुंचाई जाती है ताकी किसान साथी अधिक से अधिक पैदावार ले सके, हालांकि कुछ जानकारी अधूरी न रहें इसके लिए आप हमे सुझाव दे सकते है, जिससे भविष्य में और सुधार किया जा सके, एवम् बेहतर परिणाम किसानों को मिल सके।mandibazarbhav.com आपके सुझाव का सम्मान करता है।

error: Content is protected !!